हिंदी में स्वास्थ्य युक्तियाँ: हवा में प्रदूषण की मात्रा बढ़ती जा रही है. इसके कई कारण है. लोगों के पास बढ़ती गाड़ियां भी प्रदूषण का मुख्य कारण है. खासकर मेट्रो सिटी में हवा की गुणवत्ता काफी खराब होने के कारण लोगों को सांस की भी समस्या हो रही है. कोरोना के कारण लोग मास्क लगाकर रह रहे हैं. ऊपर से हवाओं के खराब होने से लोगों को कई प्रकार की समस्या का सामना भी करना पड़ रहा है.

गाड़ियों से निकलने वाला दूषित धुंआ हवा में प्रदूषण फैलाता है. यही कारण है कि आजकल लोग घरों से बाहर निकलने पर कोरोना से बचाव और प्रदूषण के कारण मास्क या कपड़े आदि से नाक और मुंह ढककर निकलते हैं ताकि दूषित हवा में मौजूद प्रदूषण के तत्वों से खुद की सुरक्षा कर सकें.

करें ये उपाय

फेफड़ों को साफ रखने के लिए गुड़ खाएं. साथ ही विटमिन-सी और ओमेगा 3 फैटी एसिट युक्त डाइट लें. तुलसी और अदरक की चाय पिएं. खासतौर से सुबह के समय बाहर एक्सरसाइज न करें जहां तक मुमकिन हो, खुद भी ऑफिस जाने के लिए सार्वजनिक वाहनों का इस्तेमाल करें. पर्यावरण को बचाने के लिए साथ ही सेहत के लिए साइकिल का इस्तेमाल करें. इससे आपका स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा.

सौर ऊर्जा

घरों में सोलर पैनल लगवाने के साथ-साथ आप सौर ऊर्जा पर चलने वाले वाहनों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. इससे डीजल या पेट्रोल की जरूरत नहीं होती है. सौर ऊर्जा पर चलने वाले वाहनों से दूषित गैस उत्सर्जन की भी समस्या नहीं होती है.

पेड़ लगाएं

इसके अलावा पेड़ लगाएं. जिससे हवा में ऑक्सीजन से हवा की गुणवत्ता में सुधार हो. त्योहारों पर इको फ्रेंडली चीजों का इस्तेमाल करें. जिससे हवा में प्रदूषण की मात्रा कम हो. इसके अलावा घर से बाहर मास्क लगाकर निकलें.

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की एबीपी न्यूज़ पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

यह भी पढ़ें:
Omicron Variant: Covid-19 और बदलते मौसम के कारण जुकाम और खांसी से हैं पेरशान? राहत के लिए अपनाएं ये तरीके
Diabetic Care: इस एक चीज को खाने से कम हो जाएगा डायबिटीज, डाइट में जरूर करें शामिल

स्वास्थ्य उपकरण नीचे देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलकुलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

.



[matched contant ]

[[ad_3]

Leave a Reply