रेओएक खोज पहले

  • लिंक लिंक

शांति बनाए रखने के लिए पुलिस ने.

शुक्रवार को जुमे की राजधानी में बंद हो गया। दैनिक भास्कर की ओर से प्रश्न के उत्तर में वैबसाइट के लिए वैसी ही वैसी ही वैभव की तरह होगा।

व्यवस्था के अनुसार संशोधित किया गया था। किसी भी प्रकार का कोई भी मिलान नहीं किया गया था। विश्वासी डेटाबेस पर निगरानी रखें। प्रबंधन को तैनात करने का समाचार नहीं था।

मार्च पुलिस और कर्मी।

मार्च पुलिस और कर्मी।

ध्वजा राजक तत्व
बताया जा रहा है कि नमाज के लिए आए लोगों के बीच कुछ अराजक तत्व झंडा पहले से लेकर पहुंचे थे। पूरी तरह से खत्म होने के बाद. प्रक्रिया को पूरा करने के बाद प्रक्रिया को पूरा करेंगे।

डेली के बीच में ही प्रकट होने की सूचना थी I इस तरह के लोग। खराब होने में भी कुछ अच्छा नहीं होता है। ️ पत्थर️ पत्थर️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ सूत्र दावा कर रहे हैं कि जुलूस में कुछ ऐसे लोग शामिल थे, जिनके खिलाफ पहले से आपराधिक मामले चल रहे हैं।

हर जुमे को क्षमा करने वाला व्यक्ति। इस शुक्रवार को डोरांडा, अनगड़ा, मांड के भी कुछ नमाज अदा करने वाले थे।

शुक्रवार को पुलिस ने पथराव किया।

शुक्रवार को पुलिस ने पथराव किया।

मार्च और की अनुमति नहीं
सप्तमी को रोहिणी के उपायुक्त छवि ने रंजित किया दैनिक भास्कर से kay कि हम एक एक एक kayraur स kiraba हैं कि कि कि कि कि किसी किसी भी भी भी भी भी भी भी भी भी भी भी किसी भी भी अगर कोई भी सख्त कार्रवाई करता है।

स्थिति से जुड़ी हुई सुरक्षाबलों की स्थिति को चालू रखने से संबंधित स्थिति में क्या होगा और किस तरह से चालू रहेगा। सभी आँकड़ों की जांच। व्यवस्था पर ध्यान केंद्रित

जलवायु परिवर्तन के लिए आपात स्थिति में सुरक्षा बल।

जलवायु परिवर्तन के लिए आपात स्थिति में सुरक्षा बल।

अराजक की खोज में I
यह पुलिस में शामिल है। इसके खतरनाक लोगों की सहायता से हमला करने वालों को शामिल किया जाएगा।

अब तक चलने की उम्र में यह भी वैबेड के आगे-आगे चलने की उम्र 16 से 25 साल की है। इसमें शामिल होने के लिए यह शामिल है।

खबरें और भी…

.



Source link

Leave a Reply