घुटनों के लिए सबसे खराब कसरत: आपने हमेशा यही सुना होगा कि वर्कआउट करने से हड्डियां मजबूत होती हैं। साथ ही मसल्स की स्ट्रेंथ भी बढ़ती जा रही है। इन बातों में कोई दो राय नहीं। न ही कसरत के ऐसे कोई नुकसान होते हैं हर दिन एक्सरसाइज न करने की सलाह दें। लेकिन ये ध्यान रखना भी जरूरी है कि अलग-अलग लोग, एजग्रुप और बॉडी टाइप पर डाइट का असर अलग-अलग होता है। नौकरीपेशा से 35 से 40 की उम्र के बाद अगर आप एक्सरसाइज करते हैं तो हड्डियों और शरीर के जोड़ों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। इस उम्र में हैवीवर्कआउट की वजह से हड्डियों को होने वाले फायदों के कारण नुकसान हो सकता है। नौकरीपेशा से घुटने के जोड़ को. वर्कआउट के दौरान सबसे ज्यादा तनाव से एक्सपोजर होते हैं। अगर आपके चलने में थोड़ा सा भी दर्द आ रहा है तो ये समझ लें कि वर्कआउट उन्हें डैमेज कर रहा है।

ये एक्सरसाइज कर नुकसान पहुंचा सकते हैं

घुटने में तकलीफ है तो कुछ ऐसे ही व्यायाम से बचना मुनासिब होगा। फुल आर्क नी एडवेंचर, फुल डीप लंग्स, डीप स्क्वेट्स, हर्ड स्ट्रेचेस- ये ऐसी कसरतें होती हैं जिससे पूरा दबाब घुटनों पर आता है। अगर घुटना कमजोर है तो ये व्यायाम से दूर रहें ही सबसे अच्छा तरीका है। और, यदि आप इन अभ्यासों में नौसीखिए हैं तो किसी विशेषज्ञ के सामने ही इन्हें परफॉर्म करें। गलत तरीके से किए गए ये कसरत भी झुकने को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

रेक को कैसे करें?

घुटनों को बचाने के लिए किसी भी कसरत से पहले वार्म अप जरूर करें। स्लो जॉग करें या स्ट्रेचिंग करें ताकि स्नीक वार्मअप हो जाए। वार्मअप से बल्ड सर्कुलेशन बढ़ रहा है और मस्तिष्क के तनाव का खतरा कम हो जाता है।

अगर बिगनर हैं तो लो इम्पैक्ट वर्कआउट से ही शुरू करें। जब शरीर को कसरत की आदत पड़ जाए, तब ही हैवी कसरत करना शुरू करें।

डाइट में ऐसी चीजें शामिल करें जो मांसपेशियों और हड्डियों दोनों को मजबूत करने में सक्षम हों।

घुटने में तकलीफ होने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लें और कसरत करें बिल्कुल न करें।

ये भी पढ़ें

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

.



Source link

Leave a Reply