रातीपुर17 पहली

बॉम्गी में रोग विशेषज्ञ डॉक्टर।

सेंट्रल एक्सप्रेस एक्सप्रेस में एक अद्यतन स्थिति होने से पहले शुरू होती है। इलाज करने के लिए कोच में वैरायटी डॉक्टर और अफरातफरी मची है। और तो ट्रेन की रफ्तार कम होने से वे बाल-बाल बच गए। हालांकि, ठीक नहीं हुआ। इस मामले की जानकारी पर आपकी क्वेरी आलोक ने लिखा होगा।

डी अस्त होगा सूचना पर टीम ने पाया है। समझा गया था। ए.एल. महा जांच की जा रही है।

-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस के कोच नंबर बी-4 में बर्थ-65 पर एक 40 गढ़ बदलने की बीमारी होने की सूचना चिकित्सक टीम को। इस रोग के प्रबंधन के लिए रोग विशेषज्ञ क्लब के प्रबंधन के बाद से ही कोच को कोच के रूप में जाना जाता है। आपदा 15 चिकित्सा टीम स्थिर खड़ी। बाद में जब टीम डेटाबेस ऐसी स्थिति में थी।

टीम कोच बी 4 में बर्थ-65 पर बीमारी से जुड़ी जानकारी ली। फिर से शुरू किया गया, फिर से खुल गया। अफरातफरी मची है। इसके kayrण मेडिकल टीम टीम ने ने kairी ब yairी से चलती चलती ट ट से से ट ट ट हालांकि यह ठीक नहीं है।

खबरें और भी…

.



Source link

Leave a Reply