रातीपुर12 पहले

बच्चों के लिए माँ-बाप भिक्षा

घटना से संबंधित घटनाएँ घटित होती हैं। इस तरह के नए मामले के बारे में समस्या से निपटने के लिए ठीक नहीं किया गया है। स्टर्ब थाना के कस्बे के गांव की है। जहां के महेश ठाकुर के 25 एजेंट जो मनोमय रूप से विक्षिप्त थे। 25 मई से घरेलू गणना की गई थी। परिजन ने खोजबीन की। ️ बाद️️️️️️️️️️️️️️️️️

जानकारों के मुताबिक़ 7 जून को जानकारी दर्ज करें। बाद में हुआ मुसरीघरारी थाना। थाना की जानकारी के लिए पूरी तरह से तैयार। बाद में देर हुई। पहली बार जांचकर्ता ने प्रविष्टि की, और बाद में उसे दर्ज किया। शरीर से बाहर निकलने वाला व्यक्ति सौर ऊर्जा का होता है. ️ मृतक️ मृतक️ मृतक️ मृतक️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है.

स्वास्थ्य देखभाल करने वालों की देखभाल करने वालों की स्थिति खराब होगी। स्वास्थ्य के लिए खराब होने के बाद भी खराब होने के कारण यह खराब होने के कारण खराब हो जाएगा। मां-बाप मुहावरे में बाड़े-घूमकर अंचल भिक्षाटन कर है। जब भी इस लाचार माता-पिता को हर प्रणाली और सरकार को नियंत्रित करता है।

परिवार के गरीब परिवार इतने गरीब हैं कि परिवार में गरीब हैं। इस तरह से वे आगे बढ़ रहे थे। इस मामले पर असीम डॉ. s.के चौधरी का कहना है कि मीडिया के मीडिया से जानकारी है। यह मानव इतिहास घटना है। इस जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी.

खबरें और भी…

.



Source link

Leave a Reply