नयी दिल्ली, छह दिसंबर (भाषा) पाकिस्तान की नेत्रहीन क्रिकेट टीम को मौजूदा दृष्टिबाधित क्रिकेट विश्व कप के लिए भारत आने का वीजा नहीं मिला है।

पाकिस्तान ब्लाइंड क्रिकेट काउंसिल (पीबीसीसी) ने मंगलवार को जारी एक बयान में दावा किया कि टीम को भारत में विदेश मंत्रालय से मंजूरी नहीं मिल सकी।

पीबीसीसी ने एक बयान में कहा, “इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना ने पाकिस्तान नेत्रहीन क्रिकेट टीम को अधर में छोड़ दिया है।”

बयान में कहा गया है, “इस बात की बहुत अधिक संभावना थी कि पाकिस्तान और भारत चल रहे विश्व कप के फाइनल में आमने-सामने होंगे और ग्रीन शर्ट्स के मौजूदा स्वरूप को देखते हुए, पाकिस्तान के पास विश्व कप जीतने की उच्च संभावनाएं थीं।”

यह टूर्नामेंट भारत में 5 से 17 दिसंबर तक होना है।

पीबीसीसी ने कहा, “यह भारत के इस भेदभावपूर्ण कृत्य की कड़ी निंदा करता है क्योंकि खेल को क्षेत्रीय राजनीति से ऊपर होना चाहिए”।

पीबीसीसी ने कहा, “भारत में हमारे समकक्ष ब्लाइंड क्रिकेट एसोसिएशन ने पाकिस्तान की मंजूरी के लिए अपनी सरकार से गुहार लगाई, लेकिन कुछ नहीं सुना गया।”

“इस भेदभावपूर्ण कृत्य का वैश्विक नेत्रहीन क्रिकेट पर गंभीर परिणाम होंगे क्योंकि हम विश्व दृष्टिहीन क्रिकेट में उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे और भारत को भविष्य के अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रमों की मेजबानी करने की अनुमति नहीं दे सकते हैं।” नेत्रहीनों के लिए खेले गए पिछले टी20 विश्व कप में पाकिस्तान दूसरे स्थान पर रहा था।

क्रिकेट एसोसिएशन फॉर द ब्लाइंड इन इंडिया (CABI) ने विकास की पुष्टि की और कहा कि यह एक अद्यतन टूर्नामेंट कार्यक्रम जारी करेगा क्योंकि पाकिस्तान की टीम भाग नहीं ले रही है।

“पाकिस्तान दृष्टिबाधित क्रिकेट टीम मौजूदा तीसरे में भाग नहीं ले पाएगी टी20 वर्ल्ड कप CABI ने अपने वीजा आवेदन को संसाधित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने के बावजूद नेत्रहीनों के लिए भारत में आयोजित किया जा रहा है।

मैच फरीदाबाद, दिल्ली, मुंबई, इंदौर और बेंगलुरु में खेले जाएंगे जहां फाइनल होगा। पीटीआई बीएस पीडीएस पीडीएस

(यह रिपोर्ट ऑटो-जनरेटेड सिंडिकेट वायर फीड के हिस्से के रूप में प्रकाशित की गई है। हेडलाइन के अलावा एबीपी लाइव द्वारा कॉपी में कोई संपादन नहीं किया गया है।)

.



Source link

Leave a Reply