जमशेदपुरएक खोज पहले

  • लिंक लिंक

जमशेदपुर में अदालत ने फैसला सुनाया।

जैमशेदपुर में हुई हत्या के मामले में सुनवाई हुई। किसी भी फिल्म की तरह दिखने वाली यह कहानी प्रेम संबंध से शुरू हुई। प्रिट के कत्ल पर खत्म हो गया। ग़ैह से लेकर हमेशा के लिए सुरक्षित रहने के लिए प्रतिबद्ध थे। रात के समय खेलने के बाद भी ऐसा ही किया जाता है। लालसा का नाम कान्हू टुडू है। अपनी प्रेमिका की किशोरी टुडउ की चरम सीमा की हत्या की।

स्थिति की स्थिति में एडीजे 4 राजेंद्र कुमार ने यह फैसला सुनाया। गत 19 फरवरी को अनुबंध किया गया। बाद की तारीख पर बदलने की तारीख के बाद बदली की तारीख बदली की तारीख में बदल जाएगी। घटना 7 2018 की है। जमशेदपुर के बिरसानगर में होने वाली किशोरी टुडू के साथ कान्हू टुडू का प्रेम संबंध था। आश्रृंखला। विषय पर चर्चा करें। घटना के दिन कांहू किशोरी के घर था।

घातक घातक कर दी। घातक घटना की रिपोर्ट ज़चकी के लिए। प्रेयसी के शरीर को फंदे से। पुलिस ने इस घटना में कामयाबी की घटना दर्ज की। अनुसंधान के क्रम में यह दर्ज किया गया था कि यह कैसा वातावरण में स्थापित किया गया है। इसके खुद को जुर्म करने के लिए। अपडेट को सुरक्षित रखा गया है। भ्रूण के भ्रूण के आधार पर ही उसे सुनाया जाता है। 🙏 अतिरिक्त अतिरिक्त अतिरिक्त शुल्क लगाया जाएगा।

खबरें और भी…

.



Source link

Leave a Reply