लोहरदगा18 घंटे पहले

  • लिंक लिंक

ब्लॉग के हरु रघुजी में ग्राम सरना प्रस्ताव सह धर्म प्रवचन कार्यक्रम चलाए गए। कार्यक्रम के मुख्य कार्यकारी प्रवानिवा प्रखंड के राज्य नियंत्रक एतवा किस्पोटा और लोहरदगा जिला के नवनिर्वाचित जिला परिषद सदस्य लोहरदगा सदर प्रखंड विनोद उरांव, कैरोखंड तिरंक, लोहरदगा ग्राम प्रधान, बिहार विंसभा के पूर्व विधायक उरंव मुख्य रूप से शामिल।

कार्यक्रम का रंग सरना ध्वजारोही, दीप प्रज्वलित कलशा, सरना भजन, धर्मावरण और सामाजिकता रंगा रंग कार्यक्रम। मंच मंच उमेश उरांव द्वारा किया गया। मंच में सभी ने साक्षात्कार किया। में सभी लोगों ने सरना समाज के सभी सरना धर्मावलंबी और बुद्धिजीवी प्राकृतिक मनुष्य का नियम और हम शारीर के फल है। . भूमंडलीकरण के क्रिया के नियमानुकूल दो वैकल्पिक हैं।

परिवर्तन की क्रांति को अपनाएं और रास्ता दें। प्रोटीनों के साथ बातचीत करें। किस तरह से समाज को खत्म किया जाए तो इतिहास को कैसे खत्म किया जाए। सृष्टि का निर्माण किया गया। संस्कृति, संस्कृति, विज्ञान, धर्म और विज्ञान पर्यावरण की दृष्टि से पर्यावरण को सुंदर बनाते हैं। मुख्य धारा पर जुड़ रहा है। अपना भविष्य देख सकते हैं और लोगों को अपना है।

भौतिक विज्ञान में और अधिक लेखा-जोखा। . अध्यात्म मिशन से सरना समाज में सुधार होगा।

समाज को हर तरह से विकास करना चाहिए। सभी को सम्मान सम्मान। सरना धर्म का महत्व है। झखरा, मसना, खूई, भूईहरी सुरक्षित सुरक्षित है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से सुखलाल भगत, मुलट पहं, सुरेंद्र ऊरांव, सुमरु उरांव, राज उरांव, मनी उरांव, डहरी उरांव, रितु उरंव, सुधार उरांव, मानती उरांव, शंकर उरंव आदि।

खबरें और भी…

.



Source link

Leave a Reply