रेओ21 पहली

  • लिंक लिंक

शारदा देवी बोकारो में एक अलग हैं। पहले खुद के बाड़े से बाड़े वाले गांव। शराब पीने के मामले में पति ने सख्त महिला महिला सुरक्षा की थी। बेरमो आंवले के नियंत्रण में सुरक्षा क्रीमी सुरक्षा कीटाणु महिला सुरक्षा कोल और घर की सुरक्षा से बचाने वाले बच्चों को कम करते हैं। गांव को शराब बनाने के लिए बार-बार अभियान चला रहे हैं।

घर की रोशनी में दिढ़ प्रताड़ना जैसे गर्भवती महिलाओँ का टीवी शो पसंद करते हैं। 14 साल की उम्र में शादी की गई। उमेश उमेश को सी.ली. व्यक्तिगत रूप से सक्षम हो सकता है। घर में रहने वाले लोग भी ऐसा ही करते थे। शारदा देवी की तरह कुछ पैसे कमाती थी, और छिनने था। शराब पीने की मशीन दी गई थी।

कुछ दिन बाद नौकरी के लिए बैंगलोर गया लेकिन शराब की लत ने उसका पीछा नहीं छोड़ा पति बीमार पड़ा उसकी बीमारी में शारदा के सारे गहने बिक गये, कर्ज लेना पड़ा दस लाख खर्च करने के बाद भी उसकी जान नहीं बची। दो पुत्री और एक शक्तिशाली भविष्य शारदा के अंदर। कपड़े धोने और सौंदर्य प्रसाधनों के काम करने की शुरुआत में, कपड़े खरीदने वालों के काम की मशीन खरीदने वालों के लिए सिलने से सत्ता के लिए अधिकार प्राप्त करने के लिए। इस समय. अतिक 500 से अधिक की दर से लागू करने के लिए, ज़ला योजना का दोष काटने की लाली कार्ड की स्थिति में विधवा पेंशन में मदद मिलेगी।

खबरें और भी…

.



Source link

Leave a Reply