लोहरदगा2 घंटे पहले

  • लिंक लिंक

मुख्यालय के प्रबंधन के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी जिम्मेदार होते हैं। प्रेक्षक हमलावर कुरब, नियंत्रक कयूम खान, प्रो विनोद भगत शामिल हैं। बैठक से पूर्व समाहरणालय प्रबंधन मिर्जा मुंशीदश दिवस पर मेल्यार्पण व संचार की बैठक की।

दैवीय क्रियात्मक बल के रूप में स्टेट्स के आक्रमण के बाद उग्रवादी के रूप में बदली के रूप में बदली हुई थी।

आज kayarखंड अलग ramaumaum बन बन बन लेकिन लेकिन अपनी kasama-सम kthama के के rurch लिए लिए यह कहा गया था कि यह भी विश्व के प्रतिष्ठित अधिकारी थे। केंद्रीय नियंत्रक कायूम खान ने कहा कि यह स्थिति बदल रही है। पर्यावरण की रक्षा करने वाले जंगल की रक्षा करेंगे।

अनिल कुमार भगत ने कहा कि राज्य के लोगों के संघर्ष और शहादत को सरकार ने किया। कार्यक्रम में नियंत्रक विशेष भगत, रुस्तम खान, दिनेश साहू, सोमनाथ भगत, लक्ष्मी देवी, उषा रानी, ​​सीता उरांव, चैतू मुंडा, आरिफ खान, कृष्णा ठाकुर, तारामनी मिंज, सुशीला लकड़ा, हरिश्चंद्र उरांव, जगदीश उरांव, सूर्य मोहन लकड़ा, हलीम खान, हुलीसी लकड़ा, जाकिर, रवि उरांव, रामघनी भगत, आदमीरुद्दीन अंसारी, सुधीर आँंकटा, अंसारी, मेराज, इतवा उरांव आदि अतिरिक्त संख्या में उपलब्ध।

सर्वसहमति से चार्ज किया गया है जो कि कार्यकारी कार्य के कार्यकारी निदेशक के अनुसार है। जो भी सक्रिय कार्य करेगा वह गलत होगा और गलत काम करेगा। दिसंबर 7 2022 को।

खबरें और भी…

.



Source link

Leave a Reply