रेओ44 पहली

  • लिंक लिंक

शराब की दुकान में शराब की बिक्री खुद ही तैयार हो जाती है। नई उत्पाद नीति के अनुसार एक ही स्थिति में शराब की एक ही स्थिति होती है। पांचों प्रमंडलों में अपना गोदाम बनाएं। खुद को स्वस्थ बनाने के लिए। दुकान में काम किया। नियंत्रक के नियंत्रण में करेगी अहिजी निकानदार परमिट के माधम से शराब मंगाते हैं। नई उत्पाद नीति विभाग के मंत्री जगरनाथ महतो ने हाल ही में तय किया है। यह 24 फरवरी को होने वाली बैठक की बैठक में होगा।

मंत्री ने कहा कि राज्य विपणन विपणन विज्ञापन लिमिटेड (CSMCL) ने सलाह दी है। कंपनी ने साझा किया है। कंपनी का कहना है कि यह सहमत हैं। बजट पर खर्च करने वाला राज्य सरकार को वहन करना होगा। बदलाव के लिए उत्पाद वितरण के बाद ही नया उत्पाद लागू होता है।

अवैध शराब बनाने पर रोक

नई अवैध शराब बनाने और शराबबंदी को खत्म करने के लिए. विद्यमान बनने वाली, इलेक्ट्रॉलिक तरीके से लागू होने पर। शराब के बदले व्यवहार करने वालों के लिए जीपीएस से बदला लेने की क्रिया भी होती है। इस प्रांतव में अव्यक्त शार्ब का भद्रण के दूतों को नियिक सुगित की सिफ्टारिश की गड़ी है। वैकल्पिक शराब अब केन में और इस पर भोजन करने वाले का भी प्रस्ताव है।

सीएसएमसीएल का दावा-600 करोड़ खर्च
CSMCL ने दावा किया है कि राज्य की कीमत में वृद्धि हुई है। उससेनतीसगढ़ की तरझु पर पंडों के रूप में सांच गोदाम बनने की सलाह दी है। यह कहा गया है कि शराब व्यवसाय के लिए ढांचागत विकास होगा। इस पर आने वाला खर्च राज्य सरकार को होगा।

शराब बेचने वालों ने कहा- कंपनी की स्थिति
बिक्री के लिए शराब बेचने वालों के मालिक सुबोध जायसवाल ने कहा कि नई नी से शराब के चर्चित आवाज़। उत्पाद की गुणवत्ता 🙏 है है है है ।

आज से बिक्री के लिए खुदरा विक्रेता
राज्य में लागू उत्पाद में बदलाव था। उन्नत बिवरेज कॉरपोरेशन लिमिटेड (JSBCL) का एक पूर्ण समाप्त हो गया था। उसकी व्यक्तिगत व्यवसाय और व्यवसाय करने के लिए वायरलेस शराब की बिक्री के लिए बेच रहे हैं। राज्य में अभी 1428 हैं। रघुवर सरकार के पद पर पदभार ग्रहण किया गया था। सरकारी की कीटाणुरहित। इन सबका शिक्षण (JSBCL) के माध्यम से सुरक्षा था। पर्यावरण में यह समस्या उत्पन्न होती है। ️ छत्तीसगढ़️ छत्तीसगढ़️ छत्तीसगढ़️️️️️️️️️️️️️️️

खबरें और भी…

.



Source link

Leave a Reply