शादी करने वाले भागलपुर लौटा दुल्हा
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुन

शादी-ब्याह के सीजन में इस बार उलटफेर की खबरें भी काफी आ रही हैं। यह खबर भी कुछ ऐसी ही है। खगड़िया में बुधवार को एक शादी थी। बारात भागलपुर से आई थी। पूरे उत्साह के साथ दुल्हन के दरवाजे पर पहुंचें। दुल्हन ने स्टेज पर टूटने की आरती भी छोड़ी और राजी-खुशी दोनों ने एक-दूसरे के गले में वरमाला डाली। फिर पता नहीं क्या सूझा कि दूल्हा बाज़ार इंतजार कर रहा है और दुल्हन की शादी से इंकार कर रहा है। अंत में दुल्हन के परिजनों ने दम तोड़ दिया एग्निफेरा नहीं होने के कारण शादी अधूरी रहने की बात कह तिलक का सामान लौटाने का दावा किया। नामाकानी पर बारात को कर्जदार बनाया गया।

बाराती ऋण सहित दूल्हा को पुलिस ने बुलाया था
मुफ्फसिल थाना इलाके के रहीमपुर नया टोला में बुधवार की रात भागलपुर के नारायणपुर से बारात आई थी। दुल्हन ने दुल्हा को पसंद नहीं होने की बात कहकर शादी से इनकार कर दिया। उसने यहां तक ​​कहा कि लड़का मानसिक रूप से बीमार है। दुल्हन के इस जजमेंट से दोनों पक्ष हैरान रह गए। दूल्हा हितेश कुमार एक किनारे पर बैठे और दोनों पक्ष दुल्हन को शादी के लिए मना रहे। जब बात नहीं बनी तो शादी नहीं होने के आधार पर लड़की पक्ष ने तिलक में दिए गए सामान को लेकर दूल्हा सहित पांच बारातियों को एक स्कूल भवन में ऋण लिया। पुलिस बुलानी पड़ी। स्थानीय लोगों की पहल और पुलिस की मौजूदगी में शादी के बग दूल्हा तिलक का सामान वापस करने की शर्त के साथ प्रभावी रूप से लौटा दिया गया।

विस्तार

शादी-ब्याह के सीजन में इस बार उलटफेर की खबरें भी काफी आ रही हैं। यह खबर भी कुछ ऐसी ही है। खगड़िया में बुधवार को एक शादी थी। बारात भागलपुर से आई थी। पूरे उत्साह के साथ दुल्हन के दरवाजे पर पहुंचें। दुल्हन ने स्टेज पर टूटने की आरती भी छोड़ी और राजी-खुशी दोनों ने एक-दूसरे के गले में वरमाला डाली। फिर पता नहीं क्या सूझा कि दूल्हा बाज़ार इंतजार कर रहा है और दुल्हन की शादी से इंकार कर रहा है। अंत में दुल्हन के परिजनों ने दम तोड़ दिया एग्निफेरा नहीं होने के कारण शादी अधूरी रहने की बात कह तिलक का सामान लौटाने का दावा किया। नामाकानी पर बारात को कर्जदार बनाया गया।

बाराती ऋण सहित दूल्हा को पुलिस ने बुलाया था

मुफ्फसिल थाना इलाके के रहीमपुर नया टोला में बुधवार की रात भागलपुर के नारायणपुर से बारात आई थी। दुल्हन ने दुल्हा को पसंद नहीं होने की बात कहकर शादी से इनकार कर दिया। उसने यहां तक ​​कहा कि लड़का मानसिक रूप से बीमार है। दुल्हन के इस जजमेंट से दोनों पक्ष हैरान रह गए। दूल्हा हितेश कुमार एक किनारे पर बैठे और दोनों पक्ष दुल्हन को शादी के लिए मना रहे। जब बात नहीं बनी तो शादी नहीं होने के आधार पर लड़की पक्ष ने तिलक में दिए गए सामान को लेकर दूल्हा सहित पांच बारातियों को एक स्कूल भवन में ऋण लिया। पुलिस बुलानी पड़ी। स्थानीय लोगों की पहल और पुलिस की मौजूदगी में शादी के बग दूल्हा तिलक का सामान वापस करने की शर्त के साथ प्रभावी रूप से लौटा दिया गया।

.



Source link

Leave a Reply