शिशु के देखभाल: सर्दियों के मौसम में आप अपने आप में जुड़ जाते हैं लेकिन अगर कोई पहली बार माता-पिता बनते हैं तो उनकी मुश्किलें और बढ़ जाती हैं। दरअसल, सर्दी के मौसम में नवजात शिशु के खान-पान से लेकर उसे नहलाने तक का खास ख्याल रखना पड़ता है। मामूली सी नवजात बच्चे की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। घर परिवार में आपने अक्सर ये देखा होगा कि नवजात बच्चे को माता पिता के साथ दादा-दादी या अन्य बड़े लोग नहलाते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि उन्हें इसका अनुभव होता है और वह बच्चों की देखभाल करना जानते हैं।

ठंड में बच्चे को नहलाने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। कुछ माता-पिता साफ सफाई का विशेष ध्यान रखते हैं और इस चक्कर में वह अपने बच्चे को भी हर रोज नहलाना पसंद करते हैं। लेकिन, नवजात शिशु को जल्दी-जल्दी नहलाने से जुकाम, एलर्जी आदि हो सकता है। जानिए ठंड के मौसम में शिशु को नहलाते वक्त कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

देख लें पानी का टेंपरेचर

बच्चे को नहलाने से पहले पानी का टेंपरेचर एक बार चेक कर लें। ऐसा न हो कि पानी ज्यादा गर्म या ठंडा हो। ज्यादा गर्म पानी से बच्चों की स्किन खराब हो सकती है। अगर पानी ज्यादा ठंडा है तो भी बच्चे को तकलीफ हो सकती है। विशिष्ट की शर्त तो नवजात शिशु को गुणुने पानी में नहलाना सबसे अच्छा है।

समाचार रीलों

जमा करने का अधिकार

यदि बाहर का मौसम बेहद ठंडा है, तो शिशु को नहलाने के बाद गरमाई देने का अधिकार पहले कर लें। यदि धूप निकल आई है तो बच्चे को नहलाना सबसे अच्छा है।

रासायनिक से बचाव

क्‍योंकि बच्‍चों की स्किन सेंसिटिव होती है, सर्दी में गर्म पानी से त्‍वचा खराब हो जाती है और इसकी वजह से बच्‍चों की स्किन ड्राई होने लगती है। ऐसे में बच्चे को नहलाते हुए पानी में नारियल या सरसों का तेल मिला सकते हैं।

यह सही तरीका है

अगर आप बच्चे को पूर्वाश्रम में नहला रहे हैं और वहां कूलिंग अधिक है तो टायर का उपयोग करें। बच्चे को नहलाने के लिए बाथ टब का इस्तेमाल करें। इसमें गुनगुना पानी भर दें। इसके बाद बच्चे को टैब में पकड़ें और पैरों से नहलाना शुरू करें। नहलाने के तुरंत बाद बच्चे को कोटिंग से लपेट लें और उसके बदन को अच्छे से पोछें। नहलाने के बाद बच्चे की त्वचा को नहीं लेना चाहिए। इसके लिए आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।

क्या रोज़ नहलाना सही है?

डॉक्टरों की सिंगल तो एक ही बार में नवजात बच्चों को रोज़ नहलाने से बचना चाहिए। सर्दियों में आप बच्चों को हफ्ते में 2 से 3 बार ही नहलाएं। अगर आपको साफ-सफाई ज्यादा पसंद है तो आप स्पंजिंग करके बच्चे को साफ कर सकते हैं। बाजार में इन दिनों बेबी ड्रैसिंग या सॉफ्ट कॉटन भी मिल जाता है।

यह भी पढ़ें:

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

.



Source link

Leave a Reply